नेत्रदानी नन्द अग्रवाल मरणोपरान्त दो की जिन्दगी में भर गए उजाला -सक्षम संस्था ने करवाया 146वां नेत्रदान


सीतापुर। आंखों में नूर भरने की कोशिश में लगी संस्था सक्षम के प्रयास से समाज के लोग नेत्रदान के प्रति लगातार जागरूक होते जा रहे है। यह प्रयास एवं जागरूकता का ही परिणाम है कि लोग दुख की घड़ी में नेत्रदान के लिए न कि आगे आ रहे है, बल्कि अन्य लोगों को भी प्रेरित कर रहे हैं।
संस्था के मीडिया प्रभारी विकास अग्रवाल ने बताया कि पंचमपुरवा निवासी नन्द कुमार अग्रवाल आयु 63 वर्ष का देहान्त हो गया था। उनके पुत्र अमित, सुमित, विनीत से जब नेत्रदान कराने हेतु आग्रह किया गया, तो परिवार तुरन्त ही तैयार हो गया। तत्पश्चात संस्था के अध्यक्ष संदीप भरतिया, महामंत्री मुकेश अग्रवाल, सुभाष अग्निहोत्री व अक्षत अग्रवाल ने आंख अस्पताल जाकर चिकित्सकों की टीम का गठन करवाया। चिकित्सकों की टीम ने मृतक के निवास जाकर उनकी दोनो कार्नियां सुरक्षित कर ली, जो दो जरूरत मंद लोगों को निशुल्क लगा दी जाएगी। संस्था के अध्यक्ष संदीप भरतिया ने परिवार का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि संकट की इस घड़ी में परिवार ने परोपकार की भावना से नेत्रदान करवाया जो अतुल्नीय है। महामंत्री मुकेश अग्रवाल ने कहा कि मरणोपरान्त नेत्रदान से आपकी आंखे सदैव के लिए अमर हो जाती है। मरने के बाद तो आंखे वैसे भी राख हो जाती है, तो क्यों न हम उसे किसी नेत्रहीन को दे दे, जो सदैव के लिए अंधेरी दुनिया से दूर हो प्रकाशमय रंग बिरंगी दुनिया देख सकेगा। मीडिया प्रभारी विकास अग्रवाल ने बताया कि यह संस्था द्वारा 146वां नेत्रदान करवाया गया। इस दौरान रम्भू अग्रवाल, रमेश चन्द्र ‘गंगा’, पल्लू जैन, अमित अग्रवाल, राकेश गुप्ता, मुन्ना खेतान, मनीष खेतान आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*