सांसद महेश गिरी ने नियम 377 के अंतर्गत किसानों द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाले जानलेवा हानिकारक कीटनाशकों के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने की मांग सदन में समक्ष रखा।


नई दिल्ली 19 दिसम्बर, 2017। भाजपा राष्ट्रीय मंत्री व पूर्वी दिल्ली सांसद महेश गिरी ने आज नियम 377 के अंतर्गत किसानों द्वारा इस्तेमाल किये जा रहे जानलेवा कीटनाशकों पर प्रतिबंध लगाने का मामला संसद सदन में उर्वरक मंत्रालय के समक्ष रखा।

सांसद ने कहा कि हाल ही में महाराष्ट्र में जहरीले कीटनाशकों के कारण 30 से अधिक किसानो की मौत एवं 400 से अधिक किसान गंभीर रूप से प्रभावित हुए है। इनमें से एक कीटनाशक मोनोक्रोटोफॉस 2013 में 23 बच्चो की मौत का कारण बना था। विश्व स्वस्थ्य संगठन द्वारा जारी हानिकारण कीटनाशकों की क्लास 1 श्रेणी में मौजूद इस कीटनाशक समेत कुल 18 कीटनाशक भारतीय खेती में धड़ल्ले से प्रयोग किये जाते है। उन्होंने सदन में बताया कि हमारे देश में उपयोग किये जाने वाले कीटनाशकों में लगभग 30% इस श्रेणी से है । NCRB के मुताबिक देश में पिछले साल जहरीले कीटनाशकों के कारण 7500 से अधिक जाने गई ।

महेश गिरी ने कहा कि 2013 में सरकार ने दुनियाभर में बैन 66 बेहद घातक कीटनाशकों की समीक्षा करने के लिए एक समिति बनाई थी परन्तु इस समिति ने केवल 18 कीटनाशकों पर ही पाबंदी लगाई।

सांसद ने उर्वरक मंत्रायल से अनुरोध किया कि हमें उनके स्वस्थ के प्रति गंभीरता से विचार करना चाहिए और जल्द से जल्द बाकी बचे 48 कीटनाशकों को भी तत्काल प्रतिबंधित किया जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*