कांग्रेस सरकार में हुए 2G स्कैम मामले में सीबीआई का बड़ा फैसला, सभी आरोपी हुए बरी


नई दिल्ली : देश के सबसे बड़े घोटाले के मामले में सीबीआई की पटियाला कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है। सीबीआई की विशेष अदालत ने 2G स्कैम के मामले में आरोपी ए. राजा, कनिमोझी समेत सभी आरोपियों को बरी कर दिया है। कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि, ऐसा कोई घोटाला नहीं हुआ था। कोर्ट ने कहा कि सीबीआई आरोपियों के खिलाफ सबूत जुटाने में विफल रही। इसलिए कोर्ट सभी आरोपियों को बरी करती है।

गौरतलब है कि 2010 में आई कैग की रिपोर्ट में 2008 में बांटे गए स्पेक्ट्रम पर सवाल उठाए गए थे। इसमें बताया गया था कि स्पेक्ट्रम की नीलामी के बजाए ‘पहले आओ, पहले पाओ’ के आधार पर इसे बांटा गया था। इससे सरकार को एक लाख 76 हजार करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। एक आरोप लगाया गया था कि जिसमें दो कंपनियों के बीच 200 करोड़ का मनी ट्रांजेक्शन की बात कही गई थी। इसे भी सीबीआई कोर्ट में साबित नहीं कर पाई। बचाव पक्ष ने कोर्ट में उस ट्रांजेक्शन के सबूत पेश कर दिए। जिसमें बताया गया था कि यह ट्रांजक्शन लोन का था। जिसे एक कंपनी से दूसरी कंपनी को भेजा गया था।

कोर्ट के फैसले के बाद विनोद राय के आरोप गलत साबित हुए। अब कांग्रेस सड़क से लेकर सदन तक बीजेपी और तत्कालीन कैग प्रमुख विनोद राय को आड़े हाथों ले रही है। कोर्ट के फैसले के बाद कपिल सिब्बल ने विनोद राय पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘तत्कालीन कैग विनोद राय ने साजिश की थी। जब मैंने जीरो लॉस की बात कही थी तो मेरी तत्कालीन विपक्ष ने जमकर आलोचना की थी। अब कोर्ट ने मेरी बात पर मुहर लगा दी तो विनोद राय के पास अब कहने को कुछ नहीं बचा.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*