रोजाना खाई जाने वाली इन चीजों से होता है कैंसर, चौंक गए न आप

आधुनिक जीवनशैली के बीच कैंसर की समस्या तेजी से बढ़ रही है. यह एक लाइलाज बीमारी है और अभी तक इसका सटीक उपचार नहीं खोजा जा सका है. हालांकि शुरुआत में इसके बारे में पता चलने पर इसे रोका जा सकता है.

नई दिल्ली : आधुनिक जीवनशैली के बीच कैंसर की समस्या तेजी से बढ़ रही है. यह एक लाइलाज बीमारी है और अभी तक इसका सटीक उपचार नहीं खोजा जा सका है. हालांकि शुरुआत में इसके बारे में पता चलने पर इसे रोका जा सकता है. लेकिन शायद ही आपको पता हो कि कैंसर की शुरुआत किन चीजों को खाने से होती है. एक शोध से भी यह साफ हुआ है कि आमतौर पर जिन चीजों का सेवन आप करते हैं, उनमें से कुछ चीजों से कैंसर का खतरा बढ़ता है. लोगों में आम धारणा होती है कि कैंसर शराब, सिगरेट और तम्बाकू के सेवन से होता है.

यह भी देखा जाता है कि जो इन शराब, सिगरेट और तम्बाकू का सेवन नहीं करते उन्हें भी कैंसर की समस्या हो जाती है. ऐसे में आपको पता होना चाहिए कि इन तीनों चीजों के अलावा और किन चीजों का सेवन करने से कैंसर का खतरा बना रहता है. आगे बात करते हैं उन चीजों की, जिन्हें खाने से कैंसर का खतरा बना रहता है.
यह भी पढ़ें : अंडा शाकाहारी है या मांसाहारी? वैज्ञानिकों ने ढूंढ लिया ये जवाब

माइक्रोवेव पॉपकॉर्न
आजकल समय बचाने के चक्कर में लोग माइक्रोवेव में पॉपकॉर्न तैयार कर खाते हैं. जबकि पहले लोग रेत में भुनवाकर या कुकर में मक्खन के साथ तैयार कर पॉपकॉर्न का सेवन करते थे. लेकिन आजकल पैकेट वाले पॉपकॉर्न आने से माइक्रोवेव कल्चर बढ़ गई है. माइक्रोवेव से कुछ ही मिनटों में पॉपकॉर्न तैयार हो जाती है. लेकिन इस तरह खाई जाने वाली पॉपकॉर्न आपके फेफड़ों के कैंसर का कारण बन जाती है. माइक्रोवेव में पैकेट गर्म करने से जब यह कई तरह के केमिकल छोड़ता है तो पैकेट में मौजूद ऑयल या मक्खन पॉपकॉर्न में मिलकर फेफड़ों को कमजोर करता है.

यह भी पढ़ें : टमाटर और खीरे से जुड़ी ये खबर आपको परेशान कर देगी, जानना जरूरी है!

डिब्बा बंद खाना
भागदौड़ भरी जिंदगी के बीच लोग अक्सर ताजी फल और सब्जियों के बजाय डिब्बा बंद खाने का सहारा ले रहे हैं. बाजार में आजकल कई कंपनियों का पैक्ड फूड उपलब्ध है. इस तरह के फूड को दो मिनट गर्म कर खाया जा सकता है. आपको बता दें कि इस तरह के खाने का ज्यादा सेवन भविष्य में कैंसर का कारण बनता है.

यह भी पढ़ें : चावल के साथ दही खाने के ये 5 अचूक फायदे नहीं जानते होंगे आप

रिफाइंड चीनी
कुछ लोग ब्राउन शुगर को सेहत के लिए अच्छा मानते हैं लेकिन यह स्वास्थ्य के लिए अच्छी नहीं है. कैंसर का सबसे बड़ा कारण रिफांइड चीनी और हाई-फ्रुटोज कॉर्न सीरप होता है. ब्राउन शुगर में कलर और फ्लेवर मिलाए जाने के कारण यह ज्यादा खतरनाक हो जाती है. रिफाइंड चीनी से शरीर के अंदर कैंसर सेल्स बढ़ते हैं.

यह भी पढ़ें : वैज्ञानिकों ने खोला राज, दुनिया में इस महिला का फिगर है सबसे आकर्षक

कार्बोनेटिड ड्रिंक
बॉटल बंद ड्रिंक में कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है. बॉटल में गैस से बने झाग देखने में आपको अच्छे लग सकते हैं लेकिन ये आपकी सेहत के लिए नुकसानदेह होते हैं. वहीं, इसमें मौजूद हाई-फ्रुटोज कॉर्न सीरप, कैमिकल्स और कलर्स और भी खतरनाक बनाते हैं.

यह भी पढ़ें : आप असली अंडा खाते हैं या नकली, इन 5 तरीकों से पहचानें

वेजिटेबल ऑयल
आजकल बाजार में वेजिटेबल ऑयल्स के हेल्दी होने का खूब दावा किया जाता है. लेकिन शायद आपको यह न पता हो कि इनका सेवन आपकी सेहत के लिए अच्छा नहीं रहता. ये तेल कई केमिकल्स से भरे होते हैं. इनमें सेहत को नुकसान पहुंचाने वाले ओमेगा 6 एसिड होता है. इन ऑयल्स को केमिकली प्रोसेस से गुजारा जाता है.

यह भी पढ़ें : 7 दिन तक हर रोज खाएं 100 ग्राम मूंगफली, फिर देखिए चमत्कार

डायट फूड
कुछ लोगों का सोचना होता है कि खाने पीने के जिन सामानों पर डायट (Diet) लिखा होता है, वह सेहत के लिए फायदेमंद रहते हैं. इस कारण ही आजकल बाजार में डायट ड्रिंक्स और डायट फूड्स आ गए है. इनका जरूरत से ज्यादा सेवन भी कैंसर सेल्स को बढ़ा सकता है.

फ्राइड फूड
खाने से ज़्यादा आजकल लोग फ्राइड फूड खाते हैं. छोटी-छोटी भूख को लोग इन्हीं फ्राइड खाने से शांत करते हैं. ये फूड्स खाने में जरूर स्वादिष्ट हों लेकिन इनमें मौजूद कई तत्व कैंसर का कारण बनते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*